किसान, कमेरे मजदूर वर्ग एवं युवाओं के लिए अच्छे दिनों की शुरूआत : समय सिंह भाटी

किसानों को पैंशन और किसान सम्मेान योजना का तोहफा देेने पर सुखबीर मलेरना ने जताया पीएम का आभार
फरीदाबाद : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हुए कैबिनेट गठन के बाद ही जिस प्रकार से किसानों के लिए केन्द्र सरकार ने तोहफा दिया है, उससे देश व प्रदेश के किसानों में खुशी की लहर है। पहले 2 हैक्टेयर से अधिक भूमि वाले किसान ही ‘किसान सम्मान निधि’ योजना का लाभ उठा पाते थे, मगर हाल ही में मोदी सरकार ने सभी किसानों को इस योजना का लाभ देना सुनिश्चित किया है। केन्द्र सरकार के इस फैसले से किसान वर्ग में हर्षोल्लास की लहर है। उक्त वक्तव्य भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष समय सिंह भाटी ने होटल मयूर में आयोजित एक प्रैसवार्ता में की। जिसकी अध्यक्षता जिला अध्यक्ष सुखबीर मलेरना ने की जबकि संचालन महामंत्री प्रहलाद बांकुरा ने किया। समय सिंह भाटी ने कहा कि केवल भाजपा ही ऐसी सरकार है, जो केवल बातें बनाने में विश्वास नहीं करती, बल्कि जमीनी स्तर पर काम करके दिखाती है। मोदी सरकार ने देश के किसानों को सिक्योर बनाने का काम किया है। किसानों के लिए जो योजनाए लागू की गई है, उनको धरातल तक पहुंचाने का काम किया है। प्रैसवार्ता में भाजपा जिला अध्यक्ष सुखबीर मलेरना ने किसानों के हित में लागू की गई योजनाओं एवं फरीदाबाद से सांसद कृष्णपाल गुर्जर को केन्द्र में मंत्री बनाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया और कहा कि भाजपा ही किसानों का सच्ची हितैषी है भाजपा शासनकाल में किसानों को फसलों का उचित दाम मिल रहा है। तिगांव व मोहना मंडी में किसानों की आढत सम्बंधी व अन्य समस्याओं का समाधान किया गया है, जिसके चलते किसान वर्ग राहत महसूस कर रहा है। भाजपा सरकार ने सबसे अधिक मुआवजे की रकम किसानों को वितरित की है। किसानों के लिए शुरू की गई भावान्तर भरपाई योजना का लाभ किसानों को मिल रहा है। मोदी सरकार ने किसानों के लिए 60 साल के बाद 3000 रुपये मासिक पेंशन भी शुरू की है, जिसके लिए किसान मोर्चा उनका धन्यवाद व्यक्त करता है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना पर अब 87 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। पीएम ने कहा था कि किसान की आमदनी अगले 5 साल में दोगुनी करने की कोशिश करेंगे। फसल की लागत का कम से कम डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य मिले, यह पीएम मोदी ने सुनिश्चित किया। सुखबीर मलेरना ने जानकारी देते हुए बताया कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 3 करोड़ से अधिक किसानों के खातों में पैसा पहुंच चुका है। अभी तक 12.5 करोड़ किसान इस योजना के तहत कवर हो रहे थे। करीब 2 करोड़ किसान छूट रहे थे। अब सभी किसान इसके दायरे में होंगे। इस योजना पर पहले 75 हजार करोड़ खर्च होते, लेकिन अब 12 हजार करोड़ रुपये और बढ़ेगा खर्च। यानी अब 87 हजार करोड़ रुपये सालाना खर्च होगा। प्रैसवार्ता में जिला महामंत्री प्रहलाद बांकुरा ने जानकारी देते हुए बताया कि कैबिनेट में किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए पेंशन योजना का भी एलान किया गया है। इसका भी भाजपा के संकल्प पत्र में वादा किया गया था। पेंशन योजना के तहत 18 से 40 वर्ष आयु के लोगों को 60 साल की उम्र के बाद प्रति महीने 3 हजार रुपये पेंशन मिलेगी। इस योजना में 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। पेंशन स्कीम के तहत 18 वर्ष के उम्र के शख्स को 55 रुपये प्रति महीने का योगदान देना होगा। इससे स्पष्ट होता है कि केन्द्र सरकार किसानों के हितों एवं उनको सिक्योर बनाने के लिए प्रयासरत और दृढ़ संकल्प है। इस अवसर पर उनके साथ किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष राजकुमार गौड, बडख़ल मंडल अध्यक्ष मोतीलाल, मीडिया प्रभारी सुरेन्द्र शर्मा, तीरथ रावत, दिनेश कौशिक, कुलदीप तेवतिया, मनवीर, रामचरण यादव, रणवीर तेवतिया एवं मोनू जाखड़ आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *