Breaking News

J&K: आतंकियों को लगा हसीनाओं का चस्का, कुछ समलैंगिक भी!



आतंकियों की छवि अब तक अमूमन कुछ ऐसी थी कि उन्हें जिहाद और आतंकवाद से जोड़ कर देखा जाता रहा है। आतंकी संगठन कुछ इस तरह से आतंकियों का ब्रेन वाश करते हैं कि उनका सारा ध्यान बस दुनिया में दहशत फैलाने और जिहाद पर ही केन्द्रित रहता है।

लेकिन पिछले कुछ दशकों में सेना या पुलिस द्वारा जिन आतंकियों का शिकार किया गया है या जो आतंकी घाटी में सक्रिय हैं उनके बारे में ऐसे तथ्य सामने आये हैं जिससे उनकी पारंपरिक छवि टूट गई है।

ये जानकारी न केवल कश्मीर के आतंकियों बल्कि पाकिस्तान से आए हुए विदेशी आतंकियों पर भी लागू होती हैं। जानकारी के मुताबिक़ ऐसे कई आतंकियों के बारे में पता चला है जो अय्याशी और प्रेम संबंधों में लिप्त हैं।

अभी कुछ दिन पूर्व ही एनकाउंटर में मारा गया लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर अबू दुजाना भी अपनी प्रेम संबंधों और अय्याशियों की वजह से कई बार अपने मिशन से भटक चुका था।

इससे भी ज्यादा आश्चर्यचकित करने वाली बात ये है कि ये आतंकी न केवल महिलाओं के प्रति ही आकृष्ट हो रहे हैं बल्कि कुछ तो ऐसे भी हैं जो कि समलैंगिक भी हैं।

जबकि 15 जनवरी को त्राल में मारे गए अनंतनाग के आतंकवादी आदिल अहमद रेशी का श्रीनगर की एक विवाहित महिला के साथ नाजायज संबंध था।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को प्राप्त हुई विशेष जानकारी के अनुसार लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिदीन जैसे आतंकवादी संगठनों के करीब 14 आतंकी अय्याशी में लिप्त थे। जबकि घाटी के त्राल के आतंकी मोहम्मद इशाक के बारे में जानकारी मिली है कि कि वो समलैंगिक संबंधों में लिप्त हैं।

No comments