Breaking News

पहलाज निहलानी सेंसर बोर्ड से बर्खास्त, प्रसून जोशी नए CBFC चीफ



पहलाज निहलानी को सेंसर बोर्ड के प्रमुख के पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह प्रसून जोशी को दी गई है। पहलाज निहलानी ने जबसे पद संभाला है तब से वह विवादों में ही रहे हैं। कई फिल्मों के सीन्स पर कैंची चलाने के लिए उनको घेरा जा चुका है। कुछ दिन पहले खबर आई थी कि उनकी कुर्सी खतरे में है। कई बार उन्हें फिल्मों में बेवजह या गैर जरूरी रूप से कट लगाने के चलते विवादों में भी रहना पड़ा है। साथ ही कई बार पहलाज को आपत्तिजनक सीन्स वाली फिल्मों को यूए सर्टिफिकेट देने के लिए भी विवादों में रहना पड़ा है।

हलाज निहलाही कई बार विवादों में रहे हैं। 19 जनवरी 2015 में उन्हें सेंसर बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया था। कई फिल्मों पर मनमाने ढंग से कैंची चलाने को लेकर उनकी काफी आलोचना की जा चुकी है। इसके अलावा कई बार अपने बयानों को लेकर भी उन्हें कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है। मार्च 2015 में चीफ बनते ही उन्होंने 70 से ज्यादा कट्स के बावजूद फिल्म 50 शेड्स ऑफ ग्रे को हरी झंडी नहीं दी। ऐसे ही अनुष्का शर्मा की फिल्म एनएच 10 को 9 कट्स के बाद ए सर्टिफिकेट दिया था।

अगस्त 2015 में उन्होंने डॉक्यूमेंट्री “द बैटल ऑफ बनारस” को मंजूरी देने से इंकार कर दिया था। वहीं हाल ही में निहलानी फिल्म “लिप्स्टिक अंडर माई बुर्का” में किए गए कट्स को लेकर विवादों में रहे थे।

वहीं उनकी जगह अब प्रसून जोशी लेंगे। प्रसून जोशी बॉलीवुड जगत के बड़े गीतकारों में से एक हैं। 2015 में केंद्र सरकार ने उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा था। उन्हें साहित्य और एडवर्टाइजिंग के क्षेत्र में यह पुरस्कार दिया गया था। इसके अलावा उन्होंने कई बार बेस्ट लिरीसिस्ट के फिल्मफेयर और नेशनल अवॉर्ड्स भी जीते हैं। वहीं “थंडा मतलब कोका-कोला” ऐड भी जोशी की मुख्य उपलब्धियों में से एक है।

No comments