Breaking News

ATM धोखाधड़ी के जरिए पैसे गंवाने वाले को 2 लाख रुपए लौटाएगा ICICI

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निपटान आयोग (एनसीडीआरसी) ने आईसीआईसीआई बैंक को 2006—07 में एक एटीएम धोखाधड़ी के जरिए रूपया गंवाने वाले एक उपभोक्ता को दो लाख से अधिक रुपए लौटाने का आदेश दिया है।

एनसीडीआरसी ने बैंक को हरियाणा के निवासी करम सिंह को 2,000 रुपए मुआवजा देने का भी आदेश दिया। सिंह का 11 नवंबर 2006 और दो फरवरी 2007 के बीच 2,07,368 लाख रुपए का नुकसान हो गया था।

सिंह ने आरोप लगाया था कि तीन महीने की समयावधि के दौरान उन्हें बैंक से किसी तरह के लेन—देन के बारे में सूचना नहीं मिली। एनसीडीआरसी ने निचले उपभोक्ता फोरम के निर्णय को बरकरार रखा और बैंक को सिंह को 2,000 रुपए मुआवजा भी देने को कहा। एनसीडीआरसी के पीठासीन सदस्य बीसी गुप्ता ने बताया, राज्य आयोग और जिला फोरम ने प्रत्येक लेन—देन के साथ शिकायतकर्ताओं को संदेश भेजने की सेवा निष्क्रिय रहने के मुद्दे के आधार पर अपना फैसला सुनाया।

उन्होंने बताया कि रिकार्ड से यह स्पष्ट है कि बैंक द्वारा शिकायतर्ता को एसएमएस अलर्ट सेवा मुहैया कराया गया था। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि 21-11-2006 से 25-02-2007 के बीच के समयावधि के दौरान यह काम क्यों नहीं कर रहा था।

शिकायत के मुताबिक सिंह ने अंतिम बार लेन—देन 20 नवंबर 2006 को किया था और उस समय खाते में 2,07,627 रुपए उपलब्ध थे।

No comments