Breaking News

विधवा की नाबालिग बेटी को अगवा कर दरिंदों ने की हैवानियत

गोपालगंज- गांव में रहने वाली एक विधवा महिला की नाबालिग बेटी पर गांव के ही कुछ लड़कों की बुरी नजर पड़ी हुई थी। कई बार उसने लड़की के साथ छेड़छाड़ करते हुए बदतमीजी की थी। वहीं इस बात का जब उसकी मां के द्वारा विरोध किया गया तो उसके साथ भी बदतमीजी की गई। छेड़खानी कर रहे लड़के का कहना था कि उसकी नाबालिग बेटी के साथ वो लोग सुहागरात मनाना चाहते हैं लेकिन लड़की और उसकी मां लगातार इसका विरोध कर रही थी। अपने मंसूबे में कामयाब नहीं होने के बाद गांव के लड़कों द्वारा कल देर शाम मुंह दबाते हुए उसे उठाकर गांव के सुनसान खेत में ले जाया गया। जहां उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया।

अकेली मां-बेटी देख दरिंदे करने लगे तंग-
घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी लड़की को जख्मी हालत में छोड़ वहां से फरार हो गए। जिसके बाद किसी तरह दर्द से कराहती लड़की अपने घर पहुंची और मां को इस बात की जानकारी दी। जिसके बाद उसे इलाज के लिए नजदीकी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया और इस मामले में लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए गांव के ही पांच लड़कों को आरोपी बनाया गया है। फिलहाल पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। जानकारी के मुताबिक मामला बिहार के गोपालगंज जिले का है जहां नगर थाना क्षेत्र की रहने वाली एक विधवा महिला की नाबालिक बेटी पर गांव के ही कुछ लड़कों की बुरी नजर थी। कई बार आने जाने के दौरान उन लोगों ने उसका रास्ता रोकते हुए छेड़खानी भी किया था। वहीं लड़की की मां के द्वारा जब इस बात का विरोध किया जाता तो उसके साथ भी बदतमीजी की जाती थी।

विधवा मां की नाबालिग बेटी से मनाना चाहते थे सुहागरात-
पति की मौत के बाद वो अपनी बेटी के साथ घर में अकेली रहती थी, जिसके कारण गांव के कुछ लोग उसकी इज्जत के साथ खिलवाड़ करना चाहते थे। जब इस बात का विरोध किया गया तो कल देर शाम गांव के ही रहने वाले पांच लड़कों ने घर से बाहर सामान लाने निकली नाबालिक बेटी को मुंह दबाते हुए उठा लिया और गांव के सुनसान खेत में ले जाकर उसके साथ रातभर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। वहीं लड़की के द्वारा विरोध किए जाने पर उसके साथ मारपीट करते हुए उसे घायल कर दिया।

आखिर कर ही डाली दरिंदगी-
जब अपनी हवस की भूख मिटा कर दरिंदे वहां से चले गए तो पीड़िता किसी तरह दर्द से कराहती अपने घर पहुंची और गांव के हैवानों की हैवानियत की कहानी बताई। जिसके बाद उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इलाज कराते हुए अपनी मां के साथ थाने पहुंची जहां गांव के 5 लोगों पर दुष्कर्म करने का मामला दर्ज करवाया गया। वहीं मामला दर्ज होने के बाद थाना अध्यक्ष के द्वारा उसे मेडिकल चेकअप के लिए सदर अस्पताल लाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है। वहीं आरोपी की गिरफ्तारी के लिए लगातार पुलिस छापेमारी कर रही है लेकिन घटना को अंजाम देने के बाद वो सभी गांव छोड़कर फरार हो गए हैं।

No comments