रामजन्मभूमि पर खुदाई में मिली मूर्तियाँ - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Thursday, May 21, 2020

रामजन्मभूमि पर खुदाई में मिली मूर्तियाँ


वर्षों तक चले रामजन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद किये जा रहे समतलीकरण में ऊबड़-खाबड़ जगह की खुदाई में अनेक पुरातात्त्विक मूर्तियाँ मिली हैं। इन मूर्तियों में कई मूर्तियाँ, प्रतीक चिह्न, खम्भे और शिवलिंग मिले हैं। सूत्रों के मुताबिक, मलबा हटाने के दौरान क़रीब पाँच फीट ऊँचा एक शिवलिंग मिला है। इन अवशेषों में अनेक देवी-देवताओं की खण्डित मूर्तियाँ, कलाकृतियाँ, सात काले पत्थर के स्तम्भ और छः लाल पत्थर (रेड सैंड स्टोन) के स्तम्भ भी शामिल हैं।

Debris being removed&land being levelled at Ram Janmabhoomi since past 10 days. Discovered pillar in debris of the structure&carvings on sandstone. Found a Shivling there&a similar one at Kuber Teela: Champat Rai,General Secy,Sri Ram Janmabhoomi Tirth Kshetra Trust,Ayodhya (20.5)
View image on Twitter
716 people are talking about this

Jai Shri Ram!
The work for levelling of land & removal of gangway in Shri Ramjanmabhumi Complex has started with the approval of DM Ayodhya. All norms prescribed wrt pandemic like regular sanitisation, mask for all 10 workers etc, are being followed at the site.
The work started on May 11, 2020. Since then many objects have been discovered during excavation. It include many objects of archaeological importance like flowers made of stone, Kalash, Aamalak, Dorjamb etc.
View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
2,072 people are talking about this
मूर्तियां मिलने पर हिंदू महासभा के वकील विष्णु जैन ने कहा कि रामजन्मभूमि से पुरातात्त्विक मूर्तियों का मिलना सारे आरोपों का जवाब है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में बहस के दौरान मुस्लिम पक्ष ने हमें (रामजन्मभूमि के दावेदारों को) हिंदू तालिबान कहा था। उनका आरोप था कि वहाँ पर मंदिर के अवशेष तक नहीं है। लेकिन आज बड़ी तादाद में पुरातात्त्विक मूर्तियों का मिलना उनके सभी ग़लत आरोपों का जवाब है। उन्होंने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट में पहले ही दावा कर रहे थे कि यह रामजन्मभूमि ही है और आज यह बात स्वतः साबित हो गयी। उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि परिसर में अनेक मंदिरों के अवशेष होने का ज़िक्र सुप्रीम कोर्ट पहले भी कर चुका है। क्योंकि पहले भी जब खुदाई का आदेश हुआ था, तब एएसआई को एक शिवलिंग मिला था। प्राचीनकाल में वहाँ कोई भव्य मंदिर था, जिसके आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने हमें वही जगह दी। एएसआई की रिपोर्ट में भी यह साफ़ किया गया था कि बाबरी मस्जिद के नीचे (रामजन्मभूमि पर) अनेक मंदिरों के अवशेष हैं। अब यह बात प्रमाणित हो चुकी है कि सुप्रीम कोर्ट के सामने हमारे द्वारा रखा गया तर्क कितना मजबूत था।
मूर्तियों के मिलने पर श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा है कि श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की देखरेख में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि का समतलीकरण हो रहा है, जिसके लिए पुराने ऊबड़-खाबड़ स्थानों को खोदा जा रहा है। कोरोना महामारी के चलते सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन यहाँ हो रहा है। रामजन्मभूमि परिसर के पुराने गर्भगृह के समतलीकरण का कार्य 11 मई से चल रहा है।
राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा जारी की गई तस्वीर

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें