मजदूरों के दर्द को एक डाक्यूमेंट्री में सामने लाये राहुल गांधी, BJP ने उड़ाया मजाक - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Saturday, May 23, 2020

मजदूरों के दर्द को एक डाक्यूमेंट्री में सामने लाये राहुल गांधी, BJP ने उड़ाया मजाक


लॉकडाउन के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी सिर्फ अपनी प्रेस कांफ्रेंस में मोदी सरकार पर सवाल उठाने या सुझाव देने के लिए ही चर्चा में नहीं हैं। वे पिछले दिनों  दिल्ली में घर जाने के लिए सड़कों पर भटक रहे प्रवासी मजदूरों से मिले थे और फुटपाथ पर बैठकर उनसे बात की थी। अब उन्होंने मजदूरों की दिक्क्तें सामने लाने के लिए इसकी एक डॉक्यूमेंटरी जारी की है। हालांकि, भाजपा ने राहुल गांधी के मजदूरों का दर्द दिखाने पर उनकी खिल्ली उड़ाई है और इसे ”ड्रामा” बताया है।

राहुल गांधी के मजदूरों के दर्द वाला यह वीडियो पोस्ट करते ही वायरल हो गया।  पिछले दिनों प्रवासी मज़दूरों से राहुल गांधी ने जो मुलाकात की थी यह वीडियो उसी से जुड़ा है। गांधी ने आज सुबह इस मुलाकात की डॉक्यूमेंटरी जारी की। वीडियो में घर लौट रहे प्रवासी मज़दूरों ने अपना दर्द बंया किया है। ये प्रवासी मजदूर हरियाणा से उत्तर प्रदेश के झांसी पैदल जा रहे थे। वीडियो में एक प्रवासी महिला यह कह रही हैं  – ”तीन दिन से भूखे हैं, भूख से मर रहे हैं, उसके साथ बच्चे हैं, घर नहीं जाए तो क्या करें।”

प्रवासी मजदूरों ने इस बातचीत में राहुल गांधी को बताया कि वे हरियाणा से आ रहे हैं और करीब १०० किलोमीटर की दूरी तक कर चुके हैं। खाने के सवाल पर एक प्रवासी परिवार ने बताया कि रास्ते में कुछ मिल गया तो खा लेते हैं वरना ऐसे ही चल रहे हैं।  परिवार ने कहा लॉकडाउन से पहले अगर कुछ गैप दे दिया जाता तो सब अपने गांव निकल जाते हैं। लॉकडाउन की तारीख बढ़ रही हैं लिहाजा वे घर जाने को मजबूर हैं।

याद रहे हाल में एक प्रेस कांफ्रेंस में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी राहुल गांधी के मजदूरों का दुःख-दर्द जानने पर उनका मजाक उड़ाया था। निर्मला ने कहा था – ”उन्होंने (राहुल गांधी) मजदूरों के साथ बैठकर, उनसे बात करके उनका समय बर्बाद किया। उन्हें मज़दूरों के बच्चों को और उनके सामान को उठाकर उनके साथ चलना चाहिए था।” हालांकि, राहुल ने इस टिप्पणी पर कोइ प्रतिक्रिया नहीं दी थी। अब उन्होंने मजदूरों से अपनी बातचीत का वीडियो जारी किया है।

वीडियो में वापसी के सवाल पर मजदूर कह रहे हैं कि ”हम फिलहाल तो वापस आने का सोच ही नहीं रहे हैं। उन्होंने राहुल गांधी को बताया कि ”दो महीने तक हमने पड़ोसियों से पैसे लेकर, गेहूं बेचकर काम चलाया।’ इस दौरान, एक महिला ने कहा कि ”जान बचे तो लाखों पाए। खाते में पैसे डालने की बात कही जा रही हैं, लेकिन हमें  एक भी पैसा नहीं मिला है।”

उधर भाजपा ने कहा – ”राहुल गांधी का ड्रामा करना और फिर उस पर हास्यास्पद कमेंट करना उनकी आदत बन गई है।” भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता नलिन कोहली ने वीडियो जारी करते हुए कहा – ”अगर कांग्रेस सच में प्रवासी मजदूरों की चिंता करती है तो उन्हें उनकी मदद करनी चाहिए न की राजनीति। ऐसा लग रहा है कि ये राहुल जी की आदत बन गई है कि बाहर जा कर वो ड्रामे कर इस तरह प्रजेंटेशन दें और फिर उस पर हास्यास्पद कमेंट करें। अगर सही मायने में राहुल गांधी और कांग्रेस गरीब प्रवासी मजदूरों की चिंता करते हैं तो कम से कम जिन राज्यों में उनकी सरकार है वहां उन्हें उनकी मदद करनी चाहिए थी।”

राहुल गांधी का ट्वीट
Rahul Gandhi

@RahulGandhi
कुछ दिन पहले, इन मजदूर भाई-बहनों से भेंट हुई जो हरियाणा से सैकड़ों किमी दूर यूपी के झांसी  में अपने गाँव पैदल ही जा रहे थे। आज सुबह 9 बजे इनके धैर्य, दृढ़ संकल्प और आत्मनिर्भरता की अविश्वसनीय कहानी मेरे YouTube चैनल पर देखिए।

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें