आगरा : कांग्रेस की बसों को यूपी में नहीं मिली एंट्री को लेकर धरने पर बैठे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष को पुलिस ने लिया हिरासत में - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Tuesday, May 19, 2020

आगरा : कांग्रेस की बसों को यूपी में नहीं मिली एंट्री को लेकर धरने पर बैठे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष को पुलिस ने लिया हिरासत में


उत्तर प्रदेश में बसों की एंट्री को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ता आगरा में राजस्थान की सीमा पर धरने पर बैठ गए. उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान पुलिस और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर नोकझोंक भी हुई. पुलिस ने हाइवे पर ट्रकों और अपने वाहनों को खड़ा कर रास्ता रोक दिया. कांग्रेस कार्यकर्ता यूपी सीमा में बसों की एंट्री की इजाजत मांग रहे थे. वहीं, पुलिस ने उनसे बसों के परमिट और कागजात मांगें. इस बीच कांग्रेस ने आरोप लगाया कि पार्टी के यूपी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

अजय कुमार लल्लू का कहना है कि बसों के लिए ऊपर से आदेश जारी हो गया है तो बॉर्डर पर बसें क्यों रोकी जा रही हैं. बता दें कि लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए बस चलाने को लेकर कांग्रेस और योगी सरकार आमने-सामने है. इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को पत्र लिखा था.

ये अभी आगरा के पास बॉर्डर की स्थिति है, कॉंग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष @AjayLalluINC जी से किस तरह प्रशासन बर्ताव कर रहा है आप देख ख़ुद देख लें
सरकार ने अपने पत्र में कहा था कि बसें नोयडा और गाजियाबाद लाई जायें लेकिन पुलिस लाठी लेकर खडी है@priyankagandhi@INCUttarPradesh
649 people are talking about this
गृह सचिव को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि आगरा प्रशासन तीन घंटे से बसों को प्रवेश की अनुमित नहीं दे रहा है. उन्होंने अनुरोध किया कि राज्य में बसों को प्रवेश की अनुमति दी जाए. इधर, कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने आरोप लगाया कि यूपी सरकार हमारे ट्रांसपोर्टरों को धमका रही है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार के आरटीओ हमारे ट्रांसपोर्टरों को धमकी दे रहे हैं, जिन्होंने बसें उपलब्ध कराई हैं.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को उठाकर ले जाती पुलिस

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें