22 फ्लाइट से अब तक 3 हजार से अधिक प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचे- #भारत_मीडिया - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Saturday, June 6, 2020

22 फ्लाइट से अब तक 3 हजार से अधिक प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचे- #भारत_मीडिया

Over 3 thousand migrant Rajasthanis reach Jaipur by 22 flights so far - Jaipur News in Hindi
जयपुर । शनिवार को दुसंबे तजाकिस्तान से जयपुर पहुंची फ्लाइट में 183 बच्चे जयपुर पहुंचे। एयरपोर्ट पर थर्मल स्केनिंग, चिकित्सकों की टीम द्वारा मेडिकल चैकअप, इमिग्रेशन के बाद सभी प्रवासी राजस्थानी छात्र-छात्राओं को संस्थागत क्वारंटाइन के लिए भिजवाया गया।
अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य में अब तक करीब 22 फ्लाइट से 3075 से अधिक प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंच चुके हैं। तजाकिस्तान से शनिवार को अपरान्ह पौने चार बजे जयपुर एयरपोर्ट पंहुची वहां मेडिकल का अध्ययन कर रहे प्रवासी राजस्थानी विद्यार्थी जयपुर पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा एयरपोर्ट पर आगमन से लेकर संस्थागत क्वारंटाइन तक की सभी व्यवस्थाएं चाकचोबंद कर रखी है। एयरपोर्ट पर वरिष्ठ अधिकारियों, चिकित्सकों और अन्य की टीम आवश्यक व्यवस्थाओं में जुटी होने से एयरपोर्ट पर आने वाले प्रवासी राजस्थानियों को किसी तरह की असुविधा नहीं होने दी जा रही है।
फ्लाइट के आते ही 20-20 की संख्या में बारी-बारी से सेनेटाइज, कियोस्क पर थर्मल स्केनिंग व डॉक्टरों की टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच, उसके बाद तीन काउंटरों पर संस्थागत क्वारंटाइन की व्यवस्था, इमिग्रेशन और अन्य औपचारिकताओं के बाद बसों से क्वारंटाइन होटल में भिजवाया जा रहा है। एयरपोर्ट पर सभी प्रवासियों के मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु और राजकोविड एप अनिवार्य रुप से डाउनलोड करवाया जाता है वहीं एयरपोर्ट पर सभी प्रवासियों के लिए चाय, कॉफी, पीने का पानी, बिस्कुट आदि की निःषुल्क व्यवस्था है। एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा आवश्यक जानकारियों की फिल्म और स्टेण्डियों के माध्यम से जानकारी दी जा रही है।
डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि फ्लाइट से आने वाले सभी 183 छात्रों को सात दिन के संस्थागत क्वारंटाइन पर रखा गया है। संस्थागत क्वारंटाइन के 7 वें दिन आईसीएमआर के दिशा निर्देश के अनुसार क्वारंटाइन सेंटर पर संबंधित जिले के मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा कराई जाने वाली जांच में किसी भी व्यक्ति के कोविड संक्रमण के लक्षण नहीं पाए जाने पर संपूर्ण बैच को आगामी सात दिनों तक स्व निगरानी में स्वयं के घर पर क्वारंटाइन में रहने के लिए भेजा जाएगा। किसी व्यक्ति के कोविड के लक्षण पाए जाने पर आरटी-पीआर टेस्ट किया जाएगा और उसकी रिपोर्ट आने तक उस बैच के सभी व्यक्तियों को संस्थागत क्वारंटाइन केन्द्र पर ही रखा जाएगा। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर संपूर्ण दल को स्वयं की निगरानी में अगले सात दिनों तक घर पर क्वारंटाइन की अनुमति दी जाएगी।
डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि रिपोर्ट पोजिटिव आने पर उस दल के सभी व्यक्तियों की आरटी-पीसीआर जांच कर पोजिटिव पाए जाने वाले व्यक्ति को डेडिकेटेड कोविड स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कर शेष व्यक्तियों को घर पर क्वारंटाइन के लिए भेज दिया जाएगा। घर पर एकांतवास के दौरान कोविड संक्रमण के लक्षण दिखाई देने पर अनिवार्य रुप से जिला सतर्कता अधिकारी अथवा राज्य स्तरीय कॉल सेंटर को सूचित करना होगा।

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें