कन्हैया कुमार के ट्वीट पर अशोक पंडित का जवाब, बोले- 'तुम जैसे बुजुर्ग छात्र ही आतंकवादियों के लिए बंकर...'- #भारत_मीडिया - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Wednesday, June 3, 2020

कन्हैया कुमार के ट्वीट पर अशोक पंडित का जवाब, बोले- 'तुम जैसे बुजुर्ग छात्र ही आतंकवादियों के लिए बंकर...'- #भारत_मीडिया

अशोक पंडित और कन्हैया कुमार
अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के बाद से लगातार हिंसक विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। बीते शुक्रवार को व्हाइट हाउस के बाहर प्रदर्शनकारियों के जमा होने पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कुछ समय के लिए एक भूमिगत बंकर में ले जाया गया था। इस बात क खबर से भारत में भी सियासत शुरू हो गई है। कई राजनेताओं ने डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री पीएम मोदी को लेकर बयानबाजी शुरू कर दी। ऐसे में छात्रनेता से नेता बने कन्हैया कुमार ने भी जब कुछ ऐसा ही कहा तो फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने उन्हें करारा जवाब दिया।

हाल ही में कन्हैया कुमार ने डोनाल्ड ट्रंप और मोदी सरकार का बिना नाम लिए उन पर तंज कसने की कोशिश की। कन्हैया ने ट्वीट किया, 'हमारे यहां तो 'एंकर' ही सरकार के लिए 'बंकर' का काम कर देते हैं।' कन्हैला कुमार के इस ट्वीट पर विवाद उठता नजर आया है। कुछ लोग उनके समर्थन में नजर आए तो कुछ ने जमकर निशाना साधा है। । इस बीच अपनी हाजिर जवाबी के लिए मशहूर अशोक पंडित ने कन्हैया के ट्वीट पर उन्हें जवाब दिया। उन्होंने लिखा, 'हमारे यहां तो तुम जैसे बुजुर्ग छात्र ही आतंकवादियों के लिए 'बंकर' का काम कर देते हैं !'

इससे पहले इस मुद्दे पर मध्य प्रदेश कांग्रेस की तरफ से ट्वीट किया था। जिसपर फिल्म अभिनेता परेश रावल ने बिना नाम लिए राहुल गांधी पर तंज कसा था। कांग्रेस ने लिखा, 'एक बंकर के नीचे छिपता है, एक एंकर के पीछे छिपता है।' जॉर्ज फ्लॉडय की हत्या गौरतलब है जॉर्ज फ्लॉयड की अमेरिका पुलिस ने बहुत ही निर्दयी तरीके से हत्या कर दी। वो तड़पते रहे और चिल्लाते रहे कि उन्हें सांस नहीं आ रही है लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी। कहा जा रहा है कि पुलिस की ये क्रूरता केवल इसलिए थी क्योंकि जॉर्ज का रंग काला था। वो पुलिस क्रूरता से पहले नस्लभेद का शिकार हो गए।

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें