प्रियंका के ट्वीट से नाराज आगरा जिला प्रशासन ने लिखा पत्र, कांग्रेस बोली-नहीं मिली चिट्ठी- #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Tuesday, June 23, 2020

प्रियंका के ट्वीट से नाराज आगरा जिला प्रशासन ने लिखा पत्र, कांग्रेस बोली-नहीं मिली चिट्ठी- #भारत_मीडिया #Bharat_Media

प्रियंका गांधी ने सोमवार दोपहर आगरा में मौतों को लेकर योगी सरकार की कोरोना टेस्टिंग और इलाज की पॉलिसी पर सवाल उठाए थे। -फाइल फोटो
आगरा जिला प्रशासन ने पिछले 48 घंटे में जिले में कोविड-19 से कथित रूप से 28 मरीजों की मौत संबंधी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के ट्वीट पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसे भ्रामक बताया है और 24 घंटे के अंदर इसे वापस लेने को कहा है .

आगरा के जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने सोमवार को प्रियंका को ई-मेल के जरिए भेजे गए पत्र में कहा है कि कांग्रेस महासचिव का वह दावा बेबुनियाद और भ्रामक है. हालांकि प्रियंका अपने रुख पर कायम हैं. वहीं, प्रदेश कांग्रेस का कहना है कि उसे आगरा प्रशासन से अभी तक ऐसा कोई पत्र नहीं मिला है. जिलाधिकारी ने पत्र में कहा है, "ट्विटर पर डाली गई पोस्ट प्रथम दृष्टया भ्रम की स्थिति पैदा करती है.

इससे यह संदेश गया है कि आगरा में 48 घंटे में कोविड-19 से 28 मरीजों की मृत्यु हुई है. यह सूचना असत्य और निराधार है." उन्होंने कहा कि यह पोस्ट कोरोना योद्धाओं तथा जन सामान्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालने के साथ-साथ भय का वातावरण भी उत्पन्न करता है. इस भ्रामक और झूठी खबर का 24 घंटे के अंदर खंडन करना सुनिश्चित करें ताकि इस कोरोना वायरस महामारी के दौर में सभी नागरिकों और किसी भी पद पर कार्यरत कर्मी को स्थिति की सही जानकारी मिल सके और इस महामारी से बचाव में लगे हुए कर्मियों के मनोबल को ठेस ना पहुंचे. इस बीच, प्रदेश कांग्रेस ने आगरा प्रशासन की तरफ से ऐसा कोई भी पत्र प्राप्त होने से इनकार किया है.

प्रदेश कांग्रेस के मीडिया संयोजक ललन कुमार ने अधिकारियों पर तंज कसते हुए कहा कि योगी सरकार के “कारीगर” फिर एक पत्र को मीडिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं. हैरानी की बात यह है कि ऐसा कोई पत्र अधिकृत रूप से कांग्रेस पार्टी को मिला ही नहीं है. उन्होंने कहा कि इन्हीं “कारीगरों” ने कुछ ऐसा ही कारनामा तब भी किया था, जब प्रवासियों की मदद के लिए प्रियंका गांधी ने बसें भेजी थीं.

दरअसल, सोमवार को प्रियंका के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर डाली गई पोस्ट में कहा गया था "आगरा में 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोविड-19 मरीजों की मृत्यु हुई है. उत्तर प्रदेश सरकार के लिए यह कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई. सरकार की 'नो टेस्ट-नो कोरोना' की नीति पर सवाल उठे थे लेकिन सरकार ने इसका कोई जवाब नहीं दिया. अगर उत्तर प्रदेश सरकार सच दबाकर कोविड-19 के मामले में इसी तरह लगातार लापरवाही करती रही तो यह बहुत घातक होने वाला है."

हालांकि प्रियंका ने अपने रुख पर कायम रहते हुए मंगलवार को एक और ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री से जनता को स्पष्टीकरण देने को कहा है. ट्वीट में कहा गया है कि आगरा में कोविड-19 मृत्यु दर दिल्ली और मुंबई से ज्यादा है. वहां संक्रमण से होने वालों मौतों का दर 6.8 प्रतिशत है. यहां संक्रमण से मरने वाले 79 मरीजों में से कुल 35 प्रतिशत यानी 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे के अंदर हुई है.

उन्होंने कहा "आगरा मॉडल का झूठ फैला कर इन विषम परिस्थितियों में धकेलने के जिम्मेदार कौन लोग हैं? मुख्यमंत्री को 48 घंटे के अंदर जनता को इसका स्पष्टीकरण देना चाहिए और कोविड-19 संक्रमित लोगों की स्थिति और संख्या में की जा रही हेराफेरी पर जवाबदेही तय की जानी चाहिए." उन्होंने अपने इस दावे के समर्थन में एक अखबार की क्लिप और शासन का एक कथित पत्र भी टैग किया है.
आगरा में कोरोना से मृत्युदर दिल्ली व मुंबई से भी अधिक है। यहाँ कोरोना से मरीजों की मृत्यदर 6.8% है। यहाँ कोरोना से जान गंवाने वाले 79 मरीजों में से कुल 35% यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घण्टे के अंदर हुई है।

‘आगरा मॉडल’ का झूठ फैलाकर इन विषम परिस्थितियों..1/2
Twitter पर छबि देखेंTwitter पर छबि देखें
3,535 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
डीएम आगरा का प्रियंका गांधी को नोटिस


 #भारत_मीडिया पेज को लाइक करना न भूलें, पूरी खबर लिंक पर क्लिक कर अवश्य पढ़ें 🙏  : 

.

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें