कांग्रेस ने अरुणाचल में चीनी घुसपैठ को लेकर सरकार पर निशाना साधा - #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Wednesday, June 24, 2020

कांग्रेस ने अरुणाचल में चीनी घुसपैठ को लेकर सरकार पर निशाना साधा - #भारत_मीडिया #Bharat_Media

Congress targets government over Chinese incursion in Arunachal - Delhi News in Hindi
नई दिल्ली। चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर तनाव के बीच, कांग्रेस ने भाजपा सांसद तापिर गाओ के बयान का हवाला देते हुए अरुणाचल प्रदेश में चीनी घुसपैठ का मुद्दा उठाया है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए तापिर गाओ के हवाले से कहा, "पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले में सुबनसिरी नदी के दोनों तटों पर मैकमोहन रेखा के भारतीय क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है।"

तिवारी ने कहा, "उनके (तापिर गाओ) अनुसार चीनी सेना ने भारतीय क्षेत्र में एक नया बेस बानाया है, जिसे माझा कहा जाता है। उनके मुताबिक, भारतीय क्षेत्र में ये अतिक्रमण कई किलोमीटर है। यह पहली बार नहीं है जब तापिर गाओ ने ये खुलासे किए हैं।"

कांग्रेस ने अरुणाचल पूर्व के सांसद की एक क्लिप दिखाई, जब वह लोकसभा में बोल रहे थे कि चीनी माझा में आ गए हैं, जो अतीत में एक भारतीय सैन्य अड्डा रहा है।

कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने सरकार को पूर्वोत्तर में और सीमाओं पर अधिक सतर्क रहने के लिए आगाह किया है।

तिवारी ने आरोप लगाया कि जब से भारतीय क्षेत्र में चीनी अतिक्रमण के बारे में खबरें सामने आई हैं, राजग-भाजपा सरकार उन खबरों को दबाने और जमीनी स्तर पर तथ्यों को छिपाने की कोशिश कर रही है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि वे जानते हैं कि गलवान घाटी, पैंगोंग त्सो झील में हालात ठीक नहीं हैं।

कांग्रेस ने कहा कि पार्टी चीनी सेना के पैटर्न पर प्रकाश डाल रही है कि कैसे वे धीरे-धीरे एलएसी के पार भारतीय क्षेत्र में अतिक्रमण कर रहे हैं और भारतीय क्षेत्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी केवल भारत सरकार के पास है।

--आईएएनएस


 #भारत_मीडिया पेज को लाइक करना न भूलें, पूरी खबर लिंक पर क्लिक कर अवश्य पढ़ें 🙏  : 

.

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें