कांग्रेस ने एलएसी गतिरोध पर पीएम मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाए, यहां पढ़ें- #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Sunday, June 14, 2020

कांग्रेस ने एलएसी गतिरोध पर पीएम मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाए, यहां पढ़ें- #भारत_मीडिया #Bharat_Media

Congress questions PM Modi silence over LAC deadlock, - Delhi News in Hindi
नई दिल्ली | कांग्रेस ने चीन के साथ सीमा विवाद पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए रविवार को आरोप लगाया कि चीन ने जबरन भारतीय जमीन को हथिया लिया है। भारतीय सेना प्रमुख एम.एम. नरवने ने कहा है कि चीन से लगने वाली सीमा पर स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और सेना का हटना शुरू हो गया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, "चीन द्वारा भारत मां की भूमि पर जबरन कब्जा करने के बारे में 'लाल आंख' मोदी सरकार ने तो 'रहस्यमयी चुप्पी' साध रखी है, पर आर्मी चीफ ने ये साफ शब्दों में कह ही दिया। क्या अब 56 इंच बताएंगे कि पंगोंग की चोटियों से चीन का कब्जा कब और कैसे छुड़वाएंगे?"

उनकी यह टिप्पणी जनरल नरवने की उस टिप्पणी के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा था गलवान इलाके से चीनी और भारतीय सेनाओं का हटना शुरू हो गया है और दोनों पक्षों की सेनाएं चरणबद्ध तरीके से हट रही हैं।

सुरजेवाला ने बिहार के सीतामढ़ी जिले में सीमा के पास एक झड़प की घटना के बाद कथित रूप से नेपाल पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए व्यक्ति को प्रताड़ित करने पर भी केंद्र सरकार की आलोचना की।

सुरजेवाला ने पूछा, "क्या 'लाल आंख' (मोदी) और सुशासन बाबू (बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार) जवाब देंगे?"

उन्होंने एक समाचार रिपोर्ट भी संलग्न की जिसमें नेपाल पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए व्यक्ति ने भारत लौटने के बाद अपने साथ हुई बर्बरता की कहानी मीडिया को बताई है।

--आईएएनएस



 #भारत_मीडिया पेज को लाइक करना न भूलें, पूरी खबर लिंक पर क्लिक कर अवश्य पढ़ें 🙏  : 

.

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें