विजय माल्या के प्रत्यर्पण की औपचारिकताएं पूरी, कभी भी लाया जा सकता भारत - #भारत_मीडिया - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Wednesday, June 3, 2020

विजय माल्या के प्रत्यर्पण की औपचारिकताएं पूरी, कभी भी लाया जा सकता भारत - #भारत_मीडिया

विजय माल्या
शराब कारोबारी विजय माल्या को कभी भी भारत लाया जा सकता है। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक माल्या के प्रत्यर्पण से संबंधित सभी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं। भगोड़े शराब कारोबारी और बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस के संस्थापक विजय माल्या के चार-छह महीने के बाद भारत लौटने की संभावना है। बता दें कि माल्या पिछले काफी समय से ब्रिटेन में रह रहा है।

गौरतलब है कि बंद पड़ी किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या पर देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये बकाया है। वह 2016 में ही भारत छोड़कर ब्रिटेन भाग गया था। भारतीय एजेंसियों ने ब्रिटेन की अदालत से माल्या के प्रत्यर्पण की अपील की और लंबी लड़ाई के बाद वहां की अदालत ने 14 मई को माल्या के भारत प्रत्यर्पण की अपील पर मुहर लगा दी थी।
विजय माल्या 2016 से ही ब्रिटेन में रह रहा है। माल्या पर आरोप हैं कि उसने करीब 17 बैंकों को धोखा देकर कर्ज लिया। माल्या ने कर्ज का एक हिस्सा विदेश में कंपनियों के खाते में ट्रांसफर कर दिया।
दरअसल माल्या के प्रत्यर्पण की बड़ी अड़चन 14 मई को दूर हो गई थी। उस समय माल्या प्रत्यर्पण के खिलाफ केस हार गया था। अब केंद्र सरकार को अगले 28 दिनों के भीतर उसे वापस लेकर आना है। 20 दिन पहले ही बीत चुके हैं। ऐसे में भारत के पास आठ दिन है, जिसमें उसे वापस लाना है।

इससे पहले अप्रैल में ब्रिटेन की हाईकोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा था कि माल्या को भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है। इस फैसले के खिलाफ विजय माल्या ने वहां की सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की कोशिश की, लेकिन इसकी अनुमति नहीं मिली। अगर विजय माल्या को भारत लाया जाता है, तो उसे तुरंत गिरफ्तार किया जा सकता है। सीबीआई और ईडी दोनों ही उसकी हिरासत मांग सकते हैं।

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें