MADHYA PRADESH : कमल नाथ का सीएम शिवराज हमला, कहा- अधर्मी अब संगी-साथी हो गए- #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Thursday, June 11, 2020

MADHYA PRADESH : कमल नाथ का सीएम शिवराज हमला, कहा- अधर्मी अब संगी-साथी हो गए- #भारत_मीडिया #Bharat_Media

Madhya Pradesh: Kamal Nath CM Shivraj attack, said- the unrighteous now become companions - Bhopal News in Hindi
भोपाल।  मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने बगैर नाम लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि "जिन्हें पहले पापी बताया जाता था, अब वे संगी-साथी हो गए हैं। कमल नाथ ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, धोखा, फरेब, साजिश, खरीद-फरोख्त, षड्यंत्र, प्रलोभन, ये आचरण तो धर्म कभी नहीं सिखाता! एक समय जिन्हें पापी बताते थे, आज वो ही संगी-साथी हैं। कोई नियत-नीति नहीं, नैतिकता नहीं, कोई सिद्धांत नहीं, यह धर्म की राह कैसे?


कुछ लोग खुद को बड़ा धर्म प्रेमी बताते है , ख़ूब ढोंग करते है लेकिन सच्चाई यह है कि ये ही लोग सबसे बड़े अधर्मी , पापी है।
जनता के धर्म यानि जनादेश को नहीं मानते हुए उसका अपमान करने वाले धर्म प्रेमी कैसे ?
1/2
धोखा,फ़रेब,साज़िश,ख़रीद फ़रोख़्त ,षड्यंत्र , प्रलोभन ,ये आचरण तो धर्म कभी नहीं सिखाता ?

एक समय जिन्हें पापी बताते थे , आज वो ही संगी साथी है।
कोई नियत-नीति नहीं , नैतिकता नहीं , कोई सिद्धांत नहीं , यह धर्म की राह कैसे ?
2/2
175 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
कमल नाथ ने तंज कसते हुए लिखा है, कुछ लोग खुद को बड़ा धर्मप्रेमी बताते हैं, खूब ढोंग करते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि ये ही लोग सबसे बड़े अधर्मी, पापी हैं। जनता के धर्म यानी जनादेश को नहीं मानते हुए उसका अपमान करने वाले धर्मप्रेमी कैसे?

कमल नाथ के इस ट्वीट को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उस ट्वीट का जवाब माना जा रहा है, जिसमें चौहान ने कहा था, पापियों का विनाश तो पुण्य का काम है। हमारा धर्म तो यही कहता है। क्यों? बोलो, सियापति रामचंद्र की जय!



 #भारत_मीडिया पेज को लाइक करना न भूलें, पूरी खबर लिंक पर क्लिक कर अवश्य पढ़ें 🙏  : 

.

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें