स्कूल कब और कैसे खोले जाएं, मंत्रालय को दिया सुझाव- #भारत_मीडिया - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Sunday, June 7, 2020

स्कूल कब और कैसे खोले जाएं, मंत्रालय को दिया सुझाव- #भारत_मीडिया

Suggestions given to the Ministry when and how to open schools - Delhi News in Hindi
नई दिल्ली। देशभर में विद्यालय कैसे और कब खोले जाएं इसको लेकर विभिन्न राज्य सरकार व केंद्र सरकार अपनी ओर से तैयारियां कर रही हैं। इस बीच देश के सबसे बड़े ऑनलाइन विद्यालय चलाने वाले लीड स्कूल ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय को अपनी सिफारिशें भेजी हैं। मंत्रालय को यह सिफारिशें एक विशेष हैंडबुक के जरिए दी गई हैं।

भारत सरकार द्वारा जारी किए गए सोशल डिस्टेंसिंग नियम बनाए रखने के बारे में ध्यान में रखते इस संस्था ने एक विशेष हैंडबुक तैयार की है। यह विद्यालयों को उनकी आवश्यक गतिविधियों को चलाने में मदद करेगा। विद्यालयों की परिवहन सुविधाएं कक्षाओं में बैठने की व्यवस्था, ऑफलाइन-ऑनलाइन शिक्षा, शैक्षणिक वर्ष का नियोजन और कक्षाओं के बाहर की जाने वाली गतिविधियां आदि को इसमें शामिल किया गया है। स्वास्थ्य और सफाई के साथ ही विद्यालयों, शिक्षकों, अभिभावकों और छात्रों की जिम्मेदारियों पर भी इसमें ध्यान दिया गया है।

हैंडबुक को 15 राज्यों में 800 से ज्यादा विद्यालयों में वितरित किया गया है। इनमें भारत भर के बड़े, मध्यम एवं छोटे शहरों के विद्यालय शामिल हैं जिनमें 3 लाख से भी ज्यादा छात्र अध्ययनरत हैं।

संस्था के सीईओ सुमित मेहता ने कहा, "विद्यालय लॉकडाउन के बाद आने वाली चुनौतियों को तभी हल कर पाएंगे जब वे सुरक्षित और स्वस्थ वातावरण के निर्माण के लिए अभिभावकों, शिक्षकों, शिक्षा विभाग और स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर काम करेंगे। इस हैंडबुक में एक चेकलिस्ट है, हर एक विद्यालय लॉकडाउन के बाद की तैयारियों में इस चेकलिस्ट का उपयोग कर सकता है।"

गौरतलब है कि विद्यालय में छात्र और कर्मचारियों की सुरक्षा, कोविड संक्रमित क्षेत्रों में अचानक बदलाव या नए मरीज पाए जाना, संक्रमित व्यक्ति के पाए जाने पर छात्रों या शिक्षकों को क्वारंटाइन करना और एक दूसरे से दूरी बनाए रखने के लिए सरकार के नियम ऐसी कई वजहों से विद्यालयों के कामकाज में बाधाएं आ सकती हैं।

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें