अन्न योजना का नवंबर तक बढ़ाना मोदी सरकार का संवेदनशील निर्णय : स्वतंत्र देव सिंह - #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Wednesday, July 1, 2020

अन्न योजना का नवंबर तक बढ़ाना मोदी सरकार का संवेदनशील निर्णय : स्वतंत्र देव सिंह - #भारत_मीडिया #Bharat_Media

Modi government sensitive decision to extend food scheme till November: Swatantra Dev Singh - Lucknow News in Hindi
लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष ने स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का नवंबर तक बढ़ाना मोदी सरकार का संवेदनशील निर्णय है।

भाजपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए एक प्रेस वार्ता में कहा, "देश की लगभग दो तिहाई जनता की भोजन की चिन्ता को दूर किया गया है। इस कोरोना काल में भारत जैसे बड़े देश में कोई भूखा ना सोये, इसका श्रेय मोदी को जाता है। यह मोदी सरकार का सरकार का संवेदनशील निर्णय है।"

उन्होंने कहा कि 26 मार्च को शुरू इस योजना का नवंबर महीने तक विस्तार करने के बाद इसकी कुल लागत लगभग एक लाख 50 हजार करोड़ रुपये हो गयी है।

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, "90 हजार करोड़ रुपये से अधिक की लागत से इस योजना का विस्तारीकरण होना है, जिसके माध्यम से लगभग 80 करोड़ देशवासियों को सरकार द्वारा नवंबर महीने तक पांच किलो गेहूं या चावल और हर परिवार को एक किलो चना दिया जाएगा।"

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा 'एक राष्ट्र एक राशन कार्ड' का ढांचा भी तैयार किया जा रहा है, जिसका लाभ उन लोगों को मिलेगा जो रोजगार या दूसरी आवश्यकताओं के चलते अपना गांव छोड़कर कहीं और रहते हैं।

उन्होंने कहा कि इस कदम ने गरीबों के कल्याण हेतु सरकार की तत्परता को पूरा सिद्ध किया है। इस फैसले से मोदी सरकार ने सुनिश्चित किया है कि गरीब और जरूरतमंदों के लिए दीपावली और छठ पूजा का त्यौहार खुशियों से भरपूर हो और उनके जीवन में समृद्धि की दीप सदैव जलता रहे।

--आईएएनएस

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें