बेटी को स्मार्टफोन नहीं दे सका, मजदूर ने की आत्महत्या- #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Thursday, July 2, 2020

बेटी को स्मार्टफोन नहीं दे सका, मजदूर ने की आत्महत्या- #भारत_मीडिया #Bharat_Media

Could not give daughter a smartphone, worker committed suicide - Agartala News in Hindi
अगरतला/गुवाहाटी । त्रिपुरा में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। एक दैनिक मजदूर अपनी बेटी को उसकी ऑनलाइन पढ़ाई के लिए एक एंड्रॉएड स्मार्टफोन देने में असफल रहा, तो उसने पश्चिमी त्रिपुरा में अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।



सिपाहीजला जिले के पुलिस प्रमुख कृष्णेंदु चक्रवर्ती ने कहा कि 45 वर्षीय सुकुमार भौमिक ने अपनी 15 वर्षीय सबसे बड़ी बेटी द्वारा एंड्रॉएड स्मार्टफोन के लिए दबाव डाले जाने के बाद एक साधारण मोबाइल फोन खरीदा। चक्रवर्ती ने गुरुवार को आईएएनएस को बताया, "जब सुकुमार ने अपनी बेटी को नया मोबाइल फोन दिया, तो उसने इसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया, क्योंकि उसे अपनी ऑनलाइन कोचिंग के लिए एंड्रॉएड स्मार्टफोन की जरूरत थी। सुकुमार की पत्नी और बेटी ने भी उसे झिड़क (डांटना) दिया था।"

अधिकारी ने कहा कि सुकुमार ने अपनी पत्नी और बेटी को शांत करने की कोशिश की और उन्हें बताया कि उनके पास महंगा एंड्रॉएड फोन खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं, लेकिन वे उसे परेशान करते रहे। उनकी बेटी ने नया मोबाइल फोन जमीन पर फेंक कर तोड़ दिया।

सुकुमार के करीबी रिश्तेदारों ने कहा कि अपनी बेटी और पत्नी द्वारा उन पर किए गए दुर्व्यवहार से अपमानित महसूस करते हुए उसने बुधवार तड़के पश्चिमी त्रिपुरा के सिपाहीजला जिले के मधुपुर स्थित अपने घर में बंद कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

सुकुमार की एक करीबी रिश्तेदार मनिका भौमिक ने कहा, "सुकुमार दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार का पेट पालता था, जिसमें तीन बच्चे, उसकी पत्नी और खुद वो शामिल था। उसकी रोजमर्रा की कमाई कोरोनावायरस के कारण लगे प्रतिबंधों के कारण कम हो गई थी।"

--आईएएनएस

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें