विकास दुबे से संबंधित सभी मामलों की हो सुप्रीम कोर्ट में जांच - मायावती #भारत_मीडिया, #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे से संबंधित सभी मामलों की हो सुप्रीम कोर्ट में जांच - मायावती #भारत_मीडिया, #Bharat_Media

All cases related to Vikas Dubey should be investigated in Supreme Court - Lucknow News in Hindi
लखनऊ । कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे आज कानपुर में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया है। इसे लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि पूरे मामले की सुप्रीम कोर्ट में जांच होनी चाहिए। बसपा मुखिया मायावती ने ट्वीटर के माध्यम से कहा, "कानपुर पुलिस हत्याकाण्ड की तथा साथ ही इसके मुख्य आरोपी दुर्दान्त विकास दुबे को मध्यप्रदेश से कानपुर लाते समय आज पुलिस की गाड़ी के पलटने व उसके भागने पर यूपी पुलिस द्वारा उसे मार गिराए जाने आदि के समस्त मामलों की माननीय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।"

उन्होंने कहा, "यह उच्च-स्तरीय जांच इसलिए भी जरूरी है ताकि कानपुर नरसंहार में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों के परिवार को सही इन्साफ मिल सके। साथ ही, पुलिस व आपराधिक राजनीतिक तत्वों के गठजोड़ की भी सही शिनाख्त करके उन्हें भी सख्त सजा दिलाई जा सके। ऐसे कदमों से ही यूपी अपराध-मुक्त हो सकता है।"

ज्ञात हो कि यूपी पुलिस के आठ जवानों की हत्या का मुख्य आरोपी विकास दुबे मध्य प्रदेश में उज्जैन के महाकाल मंदिर के बाहर पकड़ा गया था। जिसे उत्तर प्रदेश एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में ढेर कर दिया गया गया है। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपित विकास दुबे की कानपुर में एसटीएफ के साथ मुठभेड़ हो गई।

कानपुर के एसएसपी दिनेश पी ने विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने की पुष्टि की है। एसएसपी दिनेश कुमार पी के मुताबिक गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे पुलिस वालों के हथियार लेकर भाग रहा था। पुलिस ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में दुर्दांत अपराधी विकास दुबे मारा गया।

--आईएएनएस

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें