आईआईटी के छात्र बनाएंगे चीन को टक्कर देने वाले स्वदेशी एप : रमेश पोखरियाल निशंक - #भारत_मीडिया #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Wednesday, July 1, 2020

आईआईटी के छात्र बनाएंगे चीन को टक्कर देने वाले स्वदेशी एप : रमेश पोखरियाल निशंक - #भारत_मीडिया #Bharat_Media

IIT students will make indigenous apps to compete with China - Delhi News in Hindi
नई दिल्ली। चीन से विवाद के बीच भारत सरकार ने टिकटॉक और यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया है। केंद्र सरकार ने अब देश के विभिन्न आईआईटी और आईआईएम में पढ़ने वाले छात्रों से इन चाइनीस एप से बेहतर विकल्प तैयार करने का आह्वान किया है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय चाहता है कि भारतीय छात्र, देशवासियों को स्वदेशी मोबाइल ऐप उपलब्ध करवाएं। इन एप्स की विश्वसनीयता विश्वस्तरीय हो और गुणवत्ता में यह अन्य विदेशी मोबाइल ऐप से बेहतर हों। मंत्रालय के मुताबिक छात्रों के समक्ष यह एक चुनौती और अवसर दोनों ही है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आईआईटी छात्रों से कहा, "50 से भी अधिक जो एप को प्रतिबंधित किया गया है आपके लिए यह एक स्वर्णिम अवसर है। आप आगे आएं और प्रधानमंत्री जी को भरोसा दिलाएं कि यह जो देश के बाहर से आए ऐप हैं, हमें इनकी जरूरत नहीं है। हम इस चीज को अपने देश में ही कर सकते हैं। एक नए युग का सूत्रपात हो सकता है। आईआईटी इसमें पहल कर सकती हैं।"

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, "मैं आईआईटी के छात्रों से आह्वान करना चाहता हूं। इस अवसर को हाथ से जाने नहीं देना चाहिए। चुनौतियों का मुकाबला करने पर वह अवसर में तब्दील हो जाती हैं। यह अवसर हमारी उन्नति के लिए हमारे घर पर आए हैं। इन्हें छोड़ना नहीं चाहिए, इन अवसरों को संजोना चाहिए। इन्हें अपनी प्रगति के शिखर में तब्दील करना चाहिए।"

सरकार ने प्रतिबंधित किए गए इन ऐप्स को सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक बताया है। सरकार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि उपलब्ध सूचना के अनुसार, ये ऐप्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं, जो भारत की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरनाक हैं।

केंद्र सरकार ने जिन चाइनीस मोबाइल एप मोबाइल एप को प्रतिबंधित किया है उनमें टिकटॉक, शेयर इट, केवई, यूसी ब्राउजर, बैडू मैप, शीईन, क्लैश ऑफ किंग, डीयू बैटरी सेवर, हेलो, लाइकी आदि प्रमुख हैं।

-- आईएएनएस

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें