पटवारी, तहसीलदार व कलेक्टर की बात बाद में : मप्र के पूर्व मंत्री #भारत_मीडिया, #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Tuesday, July 28, 2020

पटवारी, तहसीलदार व कलेक्टर की बात बाद में : मप्र के पूर्व मंत्री #भारत_मीडिया, #Bharat_Media

Patwari, Tehsildar and Collector talk later: former MP minister - Gwalior News in Hindi
ग्वालियर/भोपाल। मध्यप्रदेश में कुछ समय बाद होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए तैयारी की कमान कांग्रेस की ओर से कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी को सौंपे जाने की उठ रही मांग के बीच पूर्व जनसंपर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने एक अजीबोगरीब बयान दिया है। उनका कहना है कि "अभी तो उपचुनाव जीतना है, पटवारी, तहसीलदार और कलेक्टर की बात बाद में होगी।" पूर्व मंत्री शर्मा यहां दौरे पर आए थे और पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। जब उनसे पूर्व मंत्री व पार्टी की प्रदेश इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी को उपचुनाव की कमान सौंपने को लेकर सोशल मीडिया पर चल रहे नारों को लेकर सवाल किया गया तो उनका कहना था, "पहले उपचुनाव जीतकर कमल नाथ के नेतृत्व में फिर से सरकार बनानी है। पटवारी, तहसीलदार व कलेक्टर की बात बाद में होगी।"

इतना ही नहीं, शर्मा का कहना है कि यह चुनाव 'टिकाऊ और बिकाऊ के बीच' होने वाला है। प्रदेश की जनता बिकाऊ लोगों को सबक सिखाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कैबिनेट की वर्चुअल बैठक लिए जाने पर भी शर्मा ने तंज कसा और कहा कि उनके पास एक भी वरिष्ठ मंत्री ऐसा हीं है जो कैबिनेट की बैठक ले सके, इसलिए वर्चुअल बैठक हुई।

इन दिनों राज्य में कांग्रेस के भीतर युवा नेतृत्व को लेकर बहस छिड़ी हुई है। नारे उछाले जा रहे हैं- 'सबको देखा बारी-बारी, अबकी बार जीतू पटवारी' और 'न राजा, न व्यापारी, अबकी बार जीतू पटवारी।' हालांकि पूर्व मंत्री पटवारी ने एक बार फिर इसे भाजपा प्रायोजित मुहिम करार दिया है।

--आईएएनएस

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें