यूपी के विधायक को 14 दिन की न्यायिक हिरासत भेजा गया - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Monday, August 17, 2020

यूपी के विधायक को 14 दिन की न्यायिक हिरासत भेजा गया

UP MLA sent for 14 days judicial custody - Lucknow News in Hindi
भदोही । मध्यप्रदेश में गिरफ्तार किए गए भदोही के विधायक विजय मिश्रा को रविवार रात यहां लाया गया और अब उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। मिश्रा को शुक्रवार को मप्र में गिरफ्तार किया गया था। भदोही के पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने कहा कि विधायक को रविवार रात न्यायिक मजिस्ट्रेट आलोक कुमार की अदालत के समक्ष पेश किया गया और उसके बाद नैनी सेंट्रल जेल भेज दिया गया।

एसपी ने कहा कि जिला जेल के जेलर अशोक कुमार गौतम ने जानकारी दी थी कि विधायक "वहां सुरक्षित नहीं थे", लिहाजा इसके बाद उन्हें नैनी सेंट्रल जेल ले जाया गया। उन्होंने कहा कि जिला मजिस्ट्रेट ने विधायक को केंद्रीय जेल में स्थानांतरित करने के आदेश जारी किए हैं।

निषाद पार्टी के विधायक मिश्रा को उनके रिश्तेदार की शिकायत के बाद गिरफ्तार किया गया। उनके रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने उन पर धमकी देने और जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। मामले में उनकी पत्नी, राज्य विधान परिषद की सदस्य रामलली मिश्रा और बेटे विष्णु मिश्रा पर आरोप लगाया गया है। लेकिन विधायक की पत्नी और बेटा फरार हैं।

शुक्रवार को मध्य प्रदेश पुलिस ने विजय मिश्रा को तब हिरासत में लिया था, जब वह उज्जैन के रास्ते राजस्थान के कोटा जा रहे थे।

एसपी ने कहा कि विधायक को गिरफ्तार करने के बाद, डीएसपी कालू सिंह के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम ने उन्हें मध्य प्रदेश के आगर मालवा में एक अदालत में पेश किया और फिर उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर भदोही लाया गया।

विधायक के खिलाफ वर्तमान में 73 मामले दर्ज हैं और पिछले दिनों उन पर गुंडा अधिनियम और कड़े राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था।

--आईएएनएस




भारत मीडिया के संचालन व् इस साहसी पत्रकारिता को आर्थिक रूप से सपोर्ट करें, ताकि हम स्वतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहें .
👉 अगर आप सहयोग करने को इच्छुक हैं तो भारत मीडिया द्वारा दिए इस लिंक पर क्लिक करें -------
cLICK HERE
     

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें