मऊ- बाढ़ और कटान से लोग परेशान, आजीविका चलाने की चिंता लगी सताने - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Sunday, August 23, 2020

मऊ- बाढ़ और कटान से लोग परेशान, आजीविका चलाने की चिंता लगी सताने

Flood Creating Problems for People in Mau in Uttar Pradesh
यहां मऊ जनपद में बाढ़ और कटान ने लोगों को भयभीत कर रखा है. जिससे लोगों में भय का माहौल व्याप्त है. एक तरफ लोगों को सरकारी सिस्टम से उपेक्षा का दर्द सता रहा है. वहीं, दूसरी तरफ बाढ़ से नुकसान से अपनी आजीविका चलाने की चिंता लगा है.


मधुबन के देवारा परसिया के रहने वाले विनय ने बताया कि जल स्तर बहुत बढ़ चुका है. आये दिन कटान हो रही है. नाव की व्यवस्था नहीं है. गांव के लोग परेशान हैं कब क्या हो जाए कोई नहीं जानता. वे बताते हैं कि गांव में बिजली की व्यवस्था नहीं है. साथी ही उन्होंने आरोप लगाया कि शासन-प्रशासन भी उनकी ओर ध्यान नहीं दे रहा है.


दोहरीघाट के संदीप ने बताया कि कटान में प्रशासनिक लापरवाही बहुत है. जब बाढ़ आती है तो कार्य शुरू होता है. कटान रोकने के लिये फिर पिचिंग का कार्य शुरू किया जाता है. संदीप कहते हैं कि अभी भी सिंचाई विभाग के कोई कर्मचारी नजर नहीं आ रहे हैं. ऐसी भयानक स्थिति में भी यहां कोई ड्यूटी नहीं दे रहा है और यहां कोई जिम्मेदार अधिकारी नहीं दिखाई दे रहा है.


उधर, जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि नेपाल द्वारा पानी छोड़े जाने के क्रम में बाढ़ की स्थति बिगड़ने और घटने का सिलसिला जारी है. प्रशासन ने बांधों की निगरानी और नावों का प्रबंधन कर लिया है. बिजली की समस्या पर वे कहते हैं कि ट्रांसफार्मरों के जलने के कारण बिजली आपूर्ति की समस्या आ रही है. जल्दी से जल्दी उसे ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है. बांधो की निगरानी की जा रही है.



भारत मीडिया के संचालन व् इस साहसी पत्रकारिता को आर्थिक रूप से सपोर्ट करें, ताकि हम स्वतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहें .
👉 अगर आप सहयोग करने को इच्छुक हैं तो भारत मीडिया द्वारा दिए इस लिंक पर क्लिक करें -------
cLICK HERE
     

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें