आजमगढ़ में प्रधान हत्या को लेकर राजनीति गरमाई, कांग्रेस के बाद चन्दशेखर बैठे धरने पर #Bharat_Media - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Friday, August 21, 2020

आजमगढ़ में प्रधान हत्या को लेकर राजनीति गरमाई, कांग्रेस के बाद चन्दशेखर बैठे धरने पर #Bharat_Media

Politics heats up in Azamgarh on pradhan murder, Chandrashekhar sitting on dharna after congress - Azamgarh News in Hindi
आजमगढ़। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र के बांसगांव में अनुसूचित जाति के प्रधान की हत्या को लेकर राजनीति और गरम है। गुरुवार सुबह से कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधिमंडल को ही अभी पुलिस-प्रशासन ढंग से शांत नहीं करा पाया था कि आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण भी जनपद की सीमा पर पहुंच गए और जब उन्हें रोका गया तो समर्थकों के साथ वहीं धरने पर बैठ गए। इस बीच मौके पर पहुंचे एसडीएम व सीओ ने कई बार समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं उठे। एसडीएम और सीओ ने कई बार उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन वो धरने से उठने के लिए तैयार नहीं थे।

उन्होंने कहा कि यहां हमें आइना दिखाया गया है। प्रधान की हत्या कर परिवार वालों से कहा गया कि जाओ देखो हमने हत्या कर दी है। मैं अपने परिवार से मिलने जाना चाहता हूं। बिना मिले नहीं जाउंगा। मैं इस समाज से हूं।

चन्द्रशेखर ने कहा कि "चाहे जितने दिन लगे बिना मिले नहीं जाऊंगा। बैठ गया तो बैठ गया हूं। वजनदार आदमी बैठ जाता है तो फिर अधिकारों के साथ उठते हैं। प्रशासन हमें परिवार से मिलाए। जब तक इसको राष्ट्रीय पटल पर नहीं उठाएंगे, नहीं जाएंगे। मौके पर कई थानों की फोर्स जमा थी।"

गुरुवार सुबह कांग्रस नेताओं ने गांव जाने की कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें सर्किट हाउस में नजरबंद कर दिया। शाम के चार बजे तक कांग्रेस नेताओं को जनपद से बाहर रवाना किया तो तीन बजे अतरौलिया बार्डर पर भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आ धमके।

समर्थकों के साथ जनपद की सीमा पर आने की सूचना से प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। आंबेडकरनगर में एक दलित लड़की के दुष्कर्म की घटना के संबंध में परिजनों से मिलने के बाद वह आजमगढ़ पहुंचे थे। रोके जाने पर लंबे-चौड़े काफिले के साथ वहीं बीच सड़क पर धरने पर बैठ गए।

एसपी ग्रामीण सिद्घार्थ, एसडीएम दिनेश कुमार मिश्र और सीओ ने उनकी डीएम से बात कराई। धारा-144 का हवाला दिया गया। इसके बाद भी समर्थक टस से मस नहीं हुए। आजाद ने एक दो समर्थकों के साथ वहां जाने की बात कही इसके बावजूद प्रशासन ने नहीं जाने दिया। वहीं मौके पर एसपी ग्रामीण कई थानों की फोर्स पीएसी के साथ तैनात रही। (आईएएनएस)




भारत मीडिया के संचालन व् इस साहसी पत्रकारिता को आर्थिक रूप से सपोर्ट करें, ताकि हम स्वतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहें .
👉 अगर आप सहयोग करने को इच्छुक हैं तो भारत मीडिया द्वारा दिए इस लिंक पर क्लिक करें -------
cLICK HERE
     

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें