SUSHANT CASE: CBI को बड़े राज खोलने के लिए गहरी जांच करनी होगी, बॉलीवुड के क्राइम सिंडिकेट्स पर भी किए सवाल - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Thursday, August 20, 2020

SUSHANT CASE: CBI को बड़े राज खोलने के लिए गहरी जांच करनी होगी, बॉलीवुड के क्राइम सिंडिकेट्स पर भी किए सवाल

Sushant Case: CBI will have to investigate deeply to open big secrets - Delhi News in Hindi
नई दिल्ली। पूर्व नौकरशाह आरवीएस मणि ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गहरे लिंक होने का आरोप लगाया है। उन्होंने आमिर खान की तुर्की की प्रथम महिला एमिन एर्दोगन से हुई हालिया मुलाकात पर भी सवाल किए हैं। मणि ने कहा है कि "पूरी सांठगांठ को उजागर करने के लिए सीबीआई को गहरी छानबीन" करनी होगी।

मणि ने दावा किया, इस मामले के दुबई लिंक पर सवाल उठे हैं और बॉलीवुड के माफिया संबंधों और बॉलीवुड के क्राइम सिंडिकेट्स पर भी सवाल किए गए हैं। यह पुलिस आयुक्त को जबरन लाने का मामला भी है। इसे लेकर मैं पहले ही होम मिनिस्ट्रिी में रिपोर्ट कर चुका हूं। उन्होंने कहा, इस बीच नई सरकार आई और वह इस अधिकारी को पुलिस आयुक्त के रूप में लेकर आई।

उन्होंने आमिर खान को लेकर टिप्पणी करते हुए कहा, यह लिंक सही है। मुझे नहीं पता कि यह सिर्फ दुबई लिंक है या कोई बड़ा अंतरराष्ट्रीय लिंक है। आईएसआई आजकल तुर्की में भी सक्रिय है। बहुत सारी गतिविधियां चल रही हैं। इस मौत का जैसे ही बड़ा मुद्दा बनता है, तभी प्रसिद्ध अभिनेताओं में से एक तुर्की जाकर वहां की प्रथम महिला से मिलता है।

उन्होंने आगे कहा, आखिर क्यों किसी अभिनेता को जाकर तुर्की की प्रथम महिला से मिलना है? वह भी तो बॉलीवुड का एक हिस्सा हैं। इसलिए मैंने कहा है कि लिंक बहुत अधिक हैं, बहुत बड़े हैं।मणि को लगता है कि सुशांत की मौत तो केवल बड़े हिमशैल की सतह भर है। उन्होंने कहा, सीबीआई को गहराई से डुबकी लगाकर बड़े राज खोलने होंगे।





भारत मीडिया के संचालन व् इस साहसी पत्रकारिता को आर्थिक रूप से सपोर्ट करें, ताकि हम स्वतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहें .
👉 अगर आप सहयोग करने को इच्छुक हैं तो भारत मीडिया द्वारा दिए इस लिंक पर क्लिक करें -------
cLICK HERE
     

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें