JEE EXAMINATION : हर शिफ्ट के बाद पूरा परीक्षा केंद्र होगा सैनिटाइज, 8.58 लाख छात्रों ने भरा है फार्म - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Tuesday, September 1, 2020

JEE EXAMINATION : हर शिफ्ट के बाद पूरा परीक्षा केंद्र होगा सैनिटाइज, 8.58 लाख छात्रों ने भरा है फार्म

JEE Examination: After every shift, the entire examination center will be sanitized, 8.58 lakh students have filled the form - Delhi News in Hindi
नई दिल्ली। 1 सितंबर से देशभर में जेईई की परीक्षाएं शुरू हो गईं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए, परीक्षा से पहले और परीक्षा के बाद परीक्षा केंद्र को सैनिटाइज किया जाएगा। परीक्षा केंद्र के फर्श, दीवारों, फर्नीचर, लिफ्ट, सीढ़ियां और रैम सभी को पूरी तरह से सैनिटाइज करने की व्यवस्था की गई है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए जेईई परीक्षाएं दस अलग-अलग शिफ्ट में करवाई जा रही हैं।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी एनटीए के महानिदेशक विनीत जोशी ने कहा, "जेईई की परीक्षाएं करवाने के लिए हमने 10 शिफ्ट तय की हैं। हर शिफ्ट के लिए 615 केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षाएं देशभर के 234 शहरों में आयोजित की जा रही हैं। परीक्षाएं सुचारू रूप से चलाने के लिए सिटी कोऑर्डिनेटर बनाए गए हैं। सिटी कोऑर्डिनेटर इलाके की पुलिस एवं प्रशासन के साथ संपर्क में रहेंगे, ताकि परीक्षा केंद्र पर किसी भी प्रकार की भीड़ या अन्य कोई अव्यवस्था न हो।"

जेईई की ही परीक्षा के लिए ऑड-ईवन फार्मूला भी तय किया गया है। इस फार्मूले के तहत परीक्षा केंद्रो में आने वाले छात्रों को दो पालियों में कंप्यूटर आवंटित किए जाएंगे। इसके साथ ही जेईई और नीट परीक्षाओं के दौरान एक परीक्षा कक्ष में अधिकतम 12 छात्र ही बैठ सकेंगे।

पहली शिफ्ट में ऑड नंबर वाले और दूसरी शिफ्ट में ईवन नंबर वाले छात्र कंप्यूटर पर बैठकर परीक्षा देंगे। जेईई परीक्षा के लिए 8.58 लाख छात्रों ने फार्म भरा है।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने यह सुनिश्चित किया कि 99 प्रतिशत से अधिक उम्मीदवारों को उनकी पसंद के परीक्षा केंद्र मिले। इन परीक्षाओं के लिए छात्रों को घर के नजदीक परीक्षा केंद्र चुनने का विकल्प दिया गया था।

विनीत जोशी ने परीक्षाओं के विषय में जानकारी देते हुए कहा, "जेईई परीक्षा के लिए परीक्षा कें द्रों की संख्या भी 570 से बढ़ाकर 660 कर दी गई है। वहीं नीट के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 2546 से बढ़ाकर 3843 की गई है।"

-- आईएएनएस





भारत मीडिया के संचालन व् इस साहसी पत्रकारिता को आर्थिक रूप से सपोर्ट करें, ताकि हम स्वतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहें .
👉 अगर आप सहयोग करने को इच्छुक हैं तो भारत मीडिया द्वारा दिए इस लिंक पर क्लिक करें -------
cLICK HERE
     

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें