कमल नाथ और शिवराज में फिर चला वार-पलटवार #BharatMedia.in - Bharat Media Digital Newspaper

Breaking

Monday, November 2, 2020

कमल नाथ और शिवराज में फिर चला वार-पलटवार #BharatMedia.in



भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा उप-चुनाव के लिए मतदान होने से एक दिन पहले तक पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बीच वार-पलटवार का दौर जारी है। कमल नाथ ने खुद के बारे में पूछा कि कौन सा पाप किया है, तो शिवराज ने कहा, "प्रदेश की बर्बाद करने का पाप किया है।" राज्य के 28 विधानसभा क्षेत्रों में उप-चुनाव के लिए मंगलवार को मतदान होने वाला है। दोनों प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस पूरा जोर लगाए हुए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भाजपा सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, "भारतीय लोकतंत्र का जब इतिहास लिखा जाएगा, उसमें जरूर मध्यप्रदेश के उप-चुनाव का एक पन्ना होगा और इसमें गद्दारों का नाम काले अक्षरों में लिखा जाएगा। मुझे पिछले 12 घंटों से खबरें आ रही हैं कि भाजपा ने पैसों और शराब का उपयोग करना शुरू कर दिया है, किस प्रकार खुलेआम पैसा बांटा जा रहा है, शराब बांटी जा रही है, किस तरह प्रशासन और पुलिस का दबाव और उपयोग किया जा रहा है। इससे यह स्पष्ट हो रहा है कि भाजपा पिट रही है।"
कमल नाथ ने आगे कहा, "मैं कहना चाहता हूं कि अब इनकी सौदेबाजी की सरकार का अंतिम समय आ गया है। इस चुनाव से यह सिद्ध हो गया है कि जनता को महल की जरूरत नहीं है, महल को जनता की जरूरत है। यह चुनाव सच्चाई और झूठ का है और मुझे मध्यप्रदेश के मतदाताओं पर खासकर इन 28 उप-चुनाव क्षेत्रों के मतदाताओं पर पूरा विश्वास है कि वे सच्चाई पहचान कर मध्यप्रदेश की तस्वीर अपने सामने रखकर सच्चाई का साथ देंगे।"
पूर्व मुख्यमंत्री ने बयानबाजी का जिक्र करते हुए कहा, "मुझे ताज्जुब व दुख है कि शिवराज जी कहते हैं कि मैंने उन्हें कमीना कहा, ज्योतिरादित्य सिंधिया कहते कि मैंने उन्हें कुत्ता कहा। इसका कोई प्रमाण, कोई रिकॉर्डिग, कोई सबूत हो तो मुझे दे दें। मैंने ऐसे शब्दों का उपयोग कभी नहीं किया। शिवराज सिंह चौहान ने झूठ बोलने की हद कर दी, चुनाव के एक दिन पहले तक वह झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे हैं।"
कमल नाथ ने कहा, "अभी-अभी उन्होंने कहा है कि कमल नाथ पापी है, मैंने तो पूछा कि मैंने कौन सा पाप किया, शिवराज जवाब में कहते हैं कि कमल नाथ ने कर्जा माफ नहीं किया, जबकि उनकी सरकार ने विधानसभा में खुद स्वीकारा है कि 27 लाख किसानों का कर्ज माफ हुआ है और कर्जमाफी का तीसरा चरण भी शुरू होने जा रहा था। कहते हैं कि मैंने बच्चों की पढ़ाई का पैसा रोक लिया। उनकी एक-एक बात झूठी है, मुझे आश्चर्य होता है कि कितनी बेशर्मी से ये इतना झूठ कैसे बोल लेते हैं।"
वहीं कमल नाथ के बयान का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, "कमल नाथ मध्यप्रदेश को तबाह और बर्बाद करके पूछ रहे हैं कि मैंने क्या पाप किया? आपने प्रदेश के किसानों से किया वादा पूरा नहीं किया। युवाओं और माताओं-बहनों के साथ छल किया। कमल नाथ, आपने 15 महीनों में मध्यप्रदेश का सत्यानाश कर दिया। यही आपका पाप था और इसी की सजा आपने भुगती है।"
--आईएएनएस




भारत मीडिया के संचालन व् इस साहसी पत्रकारिता को आर्थिक रूप से सपोर्ट करें, ताकि हम स्वतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता करते रहें .
👉 अगर आप सहयोग करने को इच्छुक हैं तो भारत मीडिया द्वारा दिए इस लिंक पर क्लिक करें -------
cLICK HERE
     

No comments:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

इस न्यूज़ पोर्टल पर किसी भी प्रकार की सामिग्री प्रकाशन का उद्देश्य किसी की छवि को धूमिल करना या किसी व्यक्ति विशेष की भावनाओं को ठेस पहुँचना बिल्कुल नहीं है। इस पोर्टल पर प्रकाशित किसी भी चलचित्र, छायाचित्र अथवा लेख, समाचार से कोई आपत्ति है तो हमें दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजें